भक्ति करना क्यों अनिवार्य है?

भक्ति करना क्यों अनिवार्य है

सभी संतो-महात्माओं ने भक्ति को बहुत हीं ज्यादा महत्त्व दिया है लेकिन लोग भक्ति के जगह पैसे को ज्यादा महत्त्व देते हैं जिसका एक समय…

Read Moreभक्ति करना क्यों अनिवार्य है?

सत्यपुरूष का वर्तमान अवतार।।

सत्यपुरूष का वर्तमान अवतार।।

जो सत्य साधना तथा तत्वज्ञान का प्रचार परमेश्वर के पूर्वोक्त परमेश्वर के अवतार सन्त किया करते थे। जिससे आपसी प्रेम था, एक दूसरे के दुःख…

Read Moreसत्यपुरूष का वर्तमान अवतार।।

कलयुग में सत्युग की पुनः स्थापना।

कलयुग में सत्युग की पुनः स्थापना।

सत्युग उस समय को कहते हैं जिस युग में अधर्म नहीं होता। शांति होती है। पिता से पहले पुत्र की मत्यु नहीं होती, स्त्री विधवा…

Read Moreकलयुग में सत्युग की पुनः स्थापना।

हरिद्वार में साधुओं का कत्लेआम।

हरिद्वार में साधुओं का कत्लेआम।

अब सतगुण श्री विष्णु जी के पुजारियों की कथा सुनाता हूँ। एक समय हरिद्वार में हर की पोड़ियों पर कुंभ का मेला लगा। उस अवसर…

Read Moreहरिद्वार में साधुओं का कत्लेआम।