माइग्रेन की समस्या हुई पल में ख़त्म।।

नामस्कार जी

क्या नाम है जी आपका ?

जी मेरा नाम दुर्गा शाहू है सर।


दुर्गा शाहू जी आप कहाँ से है ?
सर में बलौद जिला छत्तीसगढ़ से हूं।


संत रामपाल जी महाराज से आपने नाम दीक्षा कब ली ?
सर संत रामपाल जी महाराज से नाम दीक्षा मेने 28/12/2019 को ली।


संत रामपाल जी महाराज से नाम दीक्षा लेने से पहले आप क्या साधनाएं करती थी ?
सर संत रामपाल जी महाराज से दीक्षा लेने से पहले मेरा पूरा परिवार 2011 से 2019 तक राधास्वामी पंथ से जुड़े हुए थे और सर में अपनी कोई पर्सनली भक्ति नही करती थी लिकिन परम्परागत नवरात्रि आई दुर्गा पूजा कर लिए गणेश चतुर्थी आई तो गणेश पूज लिए और जैसे और लक्ष्मी पूजा आई तो लक्ष्मी पूज लिए में अपने से ऐसा कुछ ऐसे नही करती थी।


तो फिर आप संत रामपाल जी महाराज की शरण में कैसे आयी ?

सर मेरा एक स्कूल का दोस्त है हम 7th क्लास से दोस्त है राहुल तो फिर एक बार हम ऐसे ही कॉलेज में आ गई थी तो फिर उनसे एक रात ऐसे उनसे बातें हो रही थी तो सर में अपनी प्रॉब्लम बता रही थी में लिटरली डिप्रेशन में थी तो में उनको बता रही थी में ऐसा ऐसा प्रॉब्लम है फिर उन्होंने मुझे बोला कि प्रॉब्लम है आप बस मेको पहले सत्संग देखने को बोले यहां से यहां साधना चैनल पर शाम 7:30 से 8:30 तक सत्संग आता है आप देखो पूरे परिवार को दिखाओ जगत गुरु तत्वदर्शी संत रामपाल जी महाराज का फिर हम लगातार 3 महीने सत्संग देखे सर उसके बाद हमने दीक्षा लेने गए आश्रम अब हर जिले में नाम दीक्षा केंद्र उपलब्ध है तो हम वहा गए में मेरी मम्मी और मेरे पापा हम लोगो ने नामदीक्षा ले ली जगत गुरु तत्व दर्शी संत रामपाल जी महाराज से।


संत रामपाल जी महाराज से नाम दीक्षा लेने के बाद क्या लाभ मेले आपको ?
सर जगत गुरु तत्व दर्शी संत रामपाल जी महाराज से दीक्षा लेने के बाद हमे अनेकों लाभ हुए में अपना पर्सनली बता रही हूं जैसे की में पूरी डिप्रेशन में थी सर वो आप ऐज का कह सकते है या जो भी कह सकते है में डिप्रेशन में थी ऐसे जायदा था कि सामने वाला देखकर बता सकता था कि में कितना दुःखी हूं और किसी को कॉल करती भी थी तो पहले रोना ही होता था उसके बाद अपना प्रॉब्लम शेयर करना होता है इतना ज्यादा अंदर से उसके साथ साथ मतलब दिमागी तौर पर में पूरा बीमार ही पड़ जाती थी सर हर महीने ऐसा होता था डॉक्टर को दिखाऊ डॉक्टर फिर ये बोलता था ये प्रॉब्लम है ये ठीक नही होगा ऐसे करते करते सर मुझे माइग्रेन का शिकायत होने लगा हम डॉक्टर को दिखाते थे तो डॉक्टर बोलते थे इनको माइग्रेन का प्रॉब्लम है बहुत प्रॉब्लम है ऐसा करके बोलते थे माइग्रेन है ये कभी खत्म नहीं होगा ऐसा नही बोलते थे वो बोलते थे माइग्रेन है मतलब मेरा ऐसा शरीर ही थी में एकदम अस्वस्थ में बिल्कुल मेरे को ऐसा हैडिक होता था में अपना सिर 1 घंटे के लिए अपना सिर दीवार में ठोकू तो भी मुझे पता नही चलता था कि यहां पे ऐसा है ।
और लाभ सर मेरे घर में तो ग्रह कलेश बहुत था मेरे पापा को भी सेम लेवल का गुस्सा आता था मुझे भी गुस्सा आता था चिड़चिड़ापन था पूरे शरीर में और मम्मी को वैसे आता था इसलिए मम्मी पापा का झगड़ा हो जाता था उसका सफर पूरे फैमली को करना पड़ता था । तो सर अब हम बहुत शांति में है झगड़ा है ही नही और नशा तो था ही पापा का नशा था नशा से फिर लड़ाई फिर सेम रिवर्ष प्रोसेस और लड़ाई इतना की हम कहा जाय क्या करे ऐसे हो जाता था पूरा तमाशा टाइप का हो जाता था क्या करे तो ये अपने में और में जिस ऐज की हूं तो वहां तो मेरे लिए एकदम कोई भी फील करेगा ये बहुत गंदी चीज है और ऐसा इमेज की बात अलग है और यही सब कारण था की में डिप्रेशन में थी और इसका इफेक्ट मेरे शरीर को पड़ता था फिर वो वही से प्रॉब्लम शुरू होता था वह उसका नशा जड़ बन गया था हम लोगो के घर में जो कलेश था उसका 10 साल से राधा स्वामी पंथ में थे वहा उन्होंने डेरा ब्यास से नाम दीक्षा लिया हुआ था उसमे भी वहा नशा छूटेगा करके ही लिए थे वहा क्योंकि ऐसा वहा चलती आ रही परम्परा कि राधा स्वामी वाले नशा नही करते मांस मछली नही खाते तो यही सोच के मेरे दादा दादी 40 साल से है तो उन्होंने मम्मी पापा को दिला दिया तो वो 10 साल से वहा ही थे फिर वो छूटा ही नही वो चलता ही रहाता था फिर और मेरा मैन उद्देश्य वही था में नही तो कम से कम मेरे पापा का जो नशा था वो छूटे और कम से कम हम शांति से रहे लेकिन हमको तो यहां आने के बाद अलग ही पूरा क्या है हम पड़ के आ रहे है और पड़ने का मतलब क्या है वो सारी चीजे पता चल गई है सर नशा बहुत करते थे मेरे पिता जी तो उन्होंने हमने दीक्षा ली जगत गुरु तत्व दर्शी संत रामपाल जी महाराज जी से और उनको भक्ति विधि बताई भक्ति विधि ऐसी चल रही है सर मेरे पापा जी का नशा छूट गया


क्या काम करती है जी आप ?
सर में बी. ए. फाइनल ईयर स्टूडेंट हूं और में सिविल सर्विस की तैयारी कर रही हूं।


जैसा की अपने बताया है आप सिविल सर्विस की तैयारी कर रही है एजुकेटेड पर्सन है संत रामपाल जी महाराज के बारे में ये भी कहा जाता है कि संत रामपाल जी महाराज से उनके अनुयाई अंध श्रद्धा के तहत जुड़ते है क्या ये बात सही है ?
सर अंध श्रद्धा भक्ति से जुड़ना सर जो आज मेरे को देख रहे है टी वी पर उन सबसे यही कहना चाहूंगी कृपया 7:30 से 8:30 तक सत्संग देखना शुरू करें आपको मालूम होगा जी जगतगुरु तत्व दर्शी संत रामपाल जी महाराज है वेद कुरान सबको खोल के वहा अंगुली रख कर ज्ञान बता रहे है सर आपको थोड़ा अपने पर डाउट है या फिर लगता है ये भक्ति गलत है तो आप मिला के देख सकते है क्योंकि वो पूरा वेदों से प्रमाणित ज्ञान बता रहे है गीता में कौन से अध्याय में क्या लिखा है सब प्रमाणित ज्ञान बता रहे है सर आप देखेंगे एक एक अंगुली रख कर प्रमाणित ज्ञान बता रहे है सर तो यहां तो अंध श्रद्धा भक्ति का सवाल आता ही नही है ।


संत रामपाल जी महाराज से नाम दीक्षा कैसे ली जा सकती है ?
सर संत रामपाल जी महाराज से नाम दीक्षा बहुत से टीवी चैनलों पर सत्संग आता है नीचे पीली पट्टी चल रही होती है वहा पर नंबर लिखा होता है वो नंबर नोट करके वहा से संपर्क करके नजदीकी नाम दीक्षा केंद्र का पता कर सकते है फिर वहा जाकर आप नाम दीक्षा ले सकते है ।
जी धन्यवाद,


सत साहेब जी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *