श्री राम जन्म भूमि में शुरू हुआ विशाल भंडारा (Ayodhyay Ram Mandir Vishal Bhandara by Sant Rampal Ji)।

श्री राम जन्म भूमि अयोध्याय में विशाल भंडारा शुरू हो चुका है। आपको बता दे की यह विशाल भंडारा सतलोक आश्रम धनाना, धाम (सोनीपत, हरियाणा) द्वारा शुरू किया गया जिसके संचालक संत रामपाल जी महाराज जी हैं। यह भंडारा लगभग एक महीने तक चलने वाला है। वही संत रामपाल जी महाराज जो सामाजिक कार्यों और विशाल भंडारे के लेकर print media हो या social media हर जगह trend पर रहते हैं। 

क्यों है इतना खास श्री राम जन्म भूमि का विशाल भंडारा?

  1. श्री राम भूमि में 25 फरवरी 2024 से शुरू हुआ भंडारा एक ऐतिहासिक भंडारा भी है क्योंकि अभी तक संत रामपाल जी महाराज द्वारा ऐसे विशाल भंडारे का आयोजन सिर्फ सतलोक आश्रमों में किया जाता रहा है।
  2. सतलोक आश्रम के द्वारा जो अयोध्या में विशाल भंडारे की शुरुात हुई है यह अखंड भंडारा है जो 24 घंटे लगातार चलते रहेंगे। मतलब इस बीच आप कभी भी इस भंडारे में जाकर भंडारा ले सकते हैं।
  3. अभी तक जो अखंड भंडारे होते रहे हैं वह 3 दिन से लेकर 5 दिन तक हीं होते रहे हैं लेकिन सतलोक आश्रम द्वारा ये पहला ऐसा विशाल भंडारे का आयोजन किया गया है जो की एक महीने तक चलने वाला है।
  4. एक तरफ जहाँ महंगाई अपने चरम सीमा को छू रही वहीं संत रामपाल जी महाराज जी द्वारा जगह-जगह भंडारे करवाए जा रहे हैं, और इन विशाल भंडारों का संख्या भी बढ़ता हीं जा रहा है।
  5. भंडारे में कई प्रकार के व्यंजन हैं।
  6. भंडारा बनाने के लिए देसी घी का इस्तेमाल किया जा रहा है जो की बहुत हीं ज्यादा पौस्टिक है।
  7. भंडारे में साफ़ सफाई का बहुत हीं जयादा ख्याल रखा जा रहा है जैसे मानो कोई 5 star hotel हो।

यहाँ जो भी व्यक्ति भंडारा कर रहा है वह संत रामपाल जी का गुणगान करते हुए नहीं थक रहा, इस से यह तो सिद्ध हो जाता है की संत रामपाल जी महाराज कोई आम इंसान नहीं हैं। अयोध्या श्री राम जन्म भूमि में विशाल भंडारा शुरू होने से कुछ हीं दिनों पहले “संत रामपाल जी के बोध दिवस व कबीर परमेश्वर निर्वाण दिवस” के उपलक्ष्य में नेपाल के 1 और भारत के 12 कुल 13 सतलोक आश्रमों में विशाल भंडारे का आयोजन किया गया था। अगर हम संत रामपाल जी महाराज द्वारा लिखी पुस्तक “धरती को स्वर्ग बनाना है” का माने तो आने वाले समय में जगह -जगह पर ऐसे विशाल भंडारे चला करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *